किसानो के लिए अभी-अभी आई खुशख़बरी, इस दिन आएंगे 15वी क़िस्त पैसे

किसानो के लिए अभी-अभी आई खुशख़बरी, इस दिन आएंगे 15वी क़िस्त पैसे

PM Kisan Samman Nidhi 15th Kist: केंद्र सरकार के द्वारा नागरिकों के लिए चलाई जाने वाली प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 14 वीं किस्त को सभी पात्र किसानों के खातों में भेज दिया गया है। ऐसे में अब अनेक किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 15वीं किस्त का इंतजार है। आपको पता होगा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों को प्रतिवर्ष ₹6000 प्रदान करने का प्रावधान है। वर्ष 2023 के लिए भारत सरकार के द्वारा प्रथम किस्त फरवरी में जारी की गई थी दूसरी किस्त को जुलाई में जारी कर दिया गया है अब बात आती है तीसरी किस्त की।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तीसरी किस्त जो कि 15वीं किस्त हैं। इस किस्त से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी को आज हम इस लेख में जानने वाले हैं। अगर आपको भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलता है तो ऐसे में इस लेख को आज आपको पूरा जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि यह लेख विशेषकर आप ही के लिए है।

PM Kisan Samman Nidhi 15th Kist

भारत की इस महत्वपूर्ण योजना के तहत करोड़ों रुपए प्रतिवर्ष पात्र किसानों के बीच में बांटे जा रहे हैं किसानों को मिलने वाली राशि सीधे समय अनुसार उनके खाते में भेज दी जाती है 24 फरवरी 2019 शुरू होने वाली इस योजना का लाभ सभी राज्यों के सभी पात्र किसान समय-समय पर ले रहे हैं।

हाल ही में 14 किस्त जारी किए जाने की वजह से अब 15 वीं किस्त को कुछ महीनों के बाद में जारी किया जाएगा। संभावना है कि नवंबर के अंतिम तक किसान सम्मान निधि योजना की 15 वीं किस्त को जारी कर दिया जाएगा। हालांकि अभी अधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। किस्त की स्थिति जांचने के लिए आप अधिकारिक वेबसाइट का उपयोग कर सकते है।

 

केवल सूची में नाम होने पर ही लाभ प्रदान किया जाएगा

जी हां आपने बिल्कुल ही सही पढ़ा है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के द्वारा लाभार्थी किसानों के लिए किसान लाभार्थी सूची तैयार की जाती है इस सूची में जिन भी आवेदकों का नाम रहता है उन सभी को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाता है।

इस सूची को लेकर सबसे खास बात यह है कि कोई भी व्यक्ति अधिकारिक वेबसाइट के द्वारा आसानी से इस सूची को देख सकता है। अगर आपने किसान सम्मान निधि योजना के आवेदन नहीं किया है तो आज ही आपको अपनी पात्रता को चेक करके इस योजना के लिए आवेदन करना चाहिए।

किसानो के लिए अभी-अभी आई खुशख़बरी, इस दिन आएंगे 15वी क़िस्त पैसे

पीएम किसान योजना लाभार्थी लिस्ट 2023 कैसे देखें?

जिन भी किसान भाइयों को लगातार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलता रहा है उन्हें आगे भी इसी प्रकार लाभ मिलता रहेगा लेकिन वही अगर किसी किसान भाई ने अभी हाल ही में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए आवेदन किया है तो उनका नाम पीएम किसान सम्मान निधि लाभार्थी लिस्ट के जरिए जारी किया जाएगा उस लिस्ट में नाम होने पर किसान भाई को कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के द्वारा डायरेक्ट खाते में राशि प्रदान की जाएगी।

लाभार्थी सूची को देखने के लिए महत्वपूर्ण स्टेप्स कुछ इस प्रकार है:-

  • सबसे पहले आवेदनकर्ता को अधिकारिक वेबसाइट को अपने किसी भी डिवाइस में खोल लेना है।
  • अब होम पेज पर मेनू वाले ऑप्शन में लाभार्थी सूची का ऑप्शन दिखाई देगा तो इसके ऊपर क्लिक कर देना है।
  • अब आपको जानकारियों को सेलेक्ट करने के लिए कहा जाएगा जिसमें राज्य, जिला, उप जिला, गांव आदि को सेलेक्ट कर लेना है।
  • अब लाभार्थी सूची आपके सामने आ जाएगी जिसमें आपको अपने नाम को खोजना है।
  • अगर आपका नाम सूची में रहता है तो ऐसी स्थिति में आपको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

ऐसे किसानों को पीएम किसान की 15वीं प्रदान नहीं की जाएगी

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लिए ईकेवाईसी को अनिवार्य कर दिया गया है ऐसे में अगर आप अपनी ईकेवाईसी को कंप्लीट नहीं करेंगे तो आपको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ प्रदान नहीं किया जाएगा। अनेक किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 14वीं किस्त ना मिलने का सबसे बड़ा कारण ईकेवाईसी है।

ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपको पीएम किसान योजना की किस्त मिले तो आप समय निकालकर अपनी ई-केवाईसी को जरूर कंप्लीट करें। आप अधिकारिक वेबसाइट का उपयोग करके खुद भी ईकेवाईसी को कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप किसी ई-मित्र की दुकान पर जाकर भी अपनी ई-केवाईसी को कंप्लीट करवा सकते हैं।

 

Most Important 🔗 
Link Active  Click Here
Join Us Telegram  Click Here
Official Website Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.